Today Best Shayari

Author admin

Dil Ke Samandar Me Ek Gahrayi Hai Shayari | Today Shayari

दिल के समुन्दर में एक गहराई है, उसी गहराई से तुम्हारी याद आई है, जिस दिन हम भूल जाये आपको, समझ लेना हमारी मौत आई है. Dil Ke Samandar Me Ek Gahrayi Hai, Usi Gahrayi Se Tumhari Yaad Aayi Hai,… Continue Reading →

Koi Aadat Koi Baat Shayari | Today Shayari

कोई आदत कोई बात या सिर्फ मेरी खामोशी, कभी तो, कुछ तो, उसे भी याद आता होगा. Koi Aadat Koi Baat Ya Sirf Meri Khamoshi, Kabhi To, Kuch To Use Me Yaad Aata Hoga.

Ek Ummid Mili Thi Tumhare Aane Se Shayari

एक उम्मीद मिली थी तुम्हारे आने से अब वो भी टूट गई, वफादारी की आदत थी हमें अब शायद वो भी छूट गई. Ek Ummid Mili Thi Tumhare Aane Se Ab Vo Bhi Toot Gayi, Wafadari Ki Aadat Bhi Hame… Continue Reading →

Har Rishte Ki Ek Umra Hoti Hai Shayari | Today Shayari

हर रिश्‍ते की एक उम्र होती है, पानी का बोझ बादल कब तक सहे. Har Rishte Ki Ek Umra Hoti Hai, Pani Ka Bojh Badal Kab Tak Sahe.

Zindagi Gujaarne Ki Koshish Shayari | Today Shayari

ना प्यार कम हुआ, ना प्यार का एहसास, पर अब उसके बिना, जिंदगी गुजारने की कोशिश कर रहे हैं. Na Pyaar Kam Hua, Na Pyaar Ka Ehsaas, Par Ab Usake Bina, Zindagi Gujaarne Ki Koshish Kar Rahe Hai.

Mohabbat Ke Ehsaas Ne Shayari | Today Shayari

मोहब्बत के अहसास ने हम दोनों को छुआ था, फर्क इतना था की उसने किया था और मुझे हुआ था. Mohabbat Ke Ehsaas Ne Ham Dono Ko Chua Tha, Fark Itna Tha Ki Usane Kiya Tha Aur Mujhe Hua Tha.

Humsafar Bana Lo Ham Sath Nibhayenge Shayari

हमसफर बना लो हम साथ निभायेंगे, वो नहीं जो दिल लगाकर छोड़ जायेंगे, इंतज़ार करते रहेंगे ज़िंदगी भर, तू आये ना आये हम वादा निभायेंगे. Humsafar Bana Lo Ham Sath Nibhayenge, Vo Nahi Jo Dil Lagaakar Chod Jayenge, Intajaar Karte… Continue Reading →

Sukoon Milta Hai Jab Baat Hoti Hai Shayari | Today Shayari

सुकून मिलता है जब बात होती है, हज़ार रातों में वो एक रात होती है, निगाह उठा कर जब देखते हैं वो मेरी तरफ, मेरे लिए वही पल पूरी कायनात होती है. Sukoon Milta Hai Jab Baat Hoti Hai, Hajaar… Continue Reading →

Jab Khamosh Nigaahoi Se Baat Hoti Hai Shayari

जब खामोश निगाहों से बात होती है, इसी से तो प्यार की शुरुआत होती है, आपकी यादों में खोये रहते हैं हम दिन भर, ना जाने कब दिन और कब रात होती है. Jab Khamosh Nigaahoi Se Baat Hoti Hai,… Continue Reading →

Bholi Si Ada Koi Fir Ishq Ki Zidd Par Hai | Today Shayari

भोली सी अदा कोई फिर इश्क की जिद पर है, फिर आग का दरिया है और डूब के जाना है. Bholi Si Ada Koi Fir Ishq Ki Zidd Par Hai, Fir Aag Ka Dariya Hai Aur Doob Ke Jana Hai.

« Older posts

© 2021 Today Shayari — Powered by WordPress

Theme by Anders NorenUp ↑