बेवफ़ाई का मुझे जब भी ख़याल आता है,
अश्क़ रुख़सार पर आँखों से निकल जाते हैं.

Bewafaayi Ka Mujhe Jab Bhi Khayaal Aata Hai,
Ashq Rukhsaar Par Aankho Se Nikal Jaate Hai.